राजस्थान के भीलवाड़ा में है चमत्कारिक शिवलिंग, दर्शन करने से पूरी होती हैं हर मनोकामना

Uncategorized

[ad_1]

देश में आपने 12 ज्योतिर्लिंग के बारे में बहुत बार सुना होगा और कई शिवलिंग भी देखे होंगे।

मगर राजस्थान में मेवाड़ के प्रवेश द्वार कहे जाने वाले भीलवाड़ा जिले के आसींद विधानसभा क्षेत्र में आने वाले बारणी गांव में एक ऐसा शिवलिंग है।

image credit : News18

जो न सिर्फ अपनी मान्यताओं के कारण प्रसिद्ध है बल्कि यह मेवाड़ नहीं राजस्थान का सबसे ऊंचा शिवलिंग भी माना जाता है।

रहस्यमयी शिवलिंग: दिन में बदलता है तीन रंग ! देखें आस्था और मान्यता की पूरी कहानी – News18 हिंदी

बारणी गांव के बाबा भूतनाथ धाम में स्थित महाकाल मंदिर में 12 फीट ऊंचा और 25 फीट चौड़ा विशालकाय शिवलिंग स्थापित है।

This temple of Mahadev is very unique in the country Shivling changes color thrice a day| देश में बड़ा अनोखा है महादेव का ये मंदिर, दिन में तीन बार रंग बदलता है

जिसकी स्थापना तपस्वी योगी बाबा बमबम नाथ महाराज ने करवाई है। यहां पर आने वाले भक्तों की मान्यता है कि इस 12 फीट ऊंचे शिवलिंग के दर्शन करने से भक्तों की हर मनोकामना पूरी हो जाती है।

Dholpur Shivling Changes Color Thrice A Day In This Temple Of Rajasthan | In Pics: राजस्थान के इस शहर में हैं भगवान शिव का रहस्मय मंदिर, जहां दिन में तीन बार रंग

उज्जैन के चक्रतीर्थ शमशान घाट में वर्षों तक तपस्या करने वाले तपस्वी योगी बाबा बमबम नाथ महाराज ने बताया कि

Dholpur Shivling Changes Color Thrice A Day In This Temple Of Rajasthan | In Pics: राजस्थान के इस शहर में हैं भगवान शिव का रहस्मय मंदिर, जहां दिन में तीन बार रंग

भूतनाथ धाम महाकाल मंदिर में नर्मदा नदी से प्राप्त 12 फीट ऊंचे 25 फीट चौड़ी अद्भुत एवं विशालकायशिवलिंग की स्थापना करवाई गई है।

इसकी एक खासियत यह भी है कि यह शिवलिंग एक ही पत्थर से मनाया गया है और इसमें कोई जॉइंट नहीं है।

राजस्थान: दिन में तीन बार रंग बदलता है चमत्कारी शिवलिंग, दर्शन करने से मिलता है मनचाहा जीवनसाथी - Mysterious Shivling Lord Shiva Mandir Chamatkar Miracles Temple Chambal River ...

बाबा बमबम ने बताया कि इस शिवलिंग के दर्शन करने से हर भक्तों की मनोकामना पूरी हो जाती है। पूरे दिन सैकड़ों की संख्या में शिवलिंग के दर्शन करने के लिए भक्त यहां पहुंचते हैं।

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *